Critics With Fun!

एक माह की बालिका की हत्या की आरोपी माँ की जमानत याचिका हाई कोर्ट से खारिज

ललित मिगलानी

खटीमा।

एक माह की बालिका की हत्या को जघन्य अपराध मानते हुए माननीय उच्च न्यायालय ने महिला की जमानत याचिका को किया खारिज जमानत याचिका में महिला के वकील द्वारा बताया गया कि महिला के पास बच्ची को मारने का कोई मोटिव नहीं था जबकि हत्या में सहअभियुक्त बच्ची के पिता के पास हो सकता है क्योंकि उसे महिला के चरित्र पर शक था और हत्या का कोई चश्मदीद गवाह भी नहीं पाया गया था ।

बता दें कि 1 माह की बच्ची का शव पुलिस ने नहर से प्राप्त किया था जबकि बच्ची के पिता द्वारा बच्ची के आधी रात को गायब होने की मिसिंग कंप्लेंट दर्ज कराई गई थी वही सरकारी पक्ष के वकील ने अपनी दलील में कहा कि अबोध बालिका की हत्या कि पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के अनुसार बच्ची की मृत्यु दम घोटकर मारे जाने से हुई थी, ऐसे में जब बच्ची की देखरेख व सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी मां व पिता की रही है प्रथम दृष्टया यही प्रतीत हो रहा होता है की बच्ची से छुटकारा पाने के लिए मां व पिता  ने हीं गला घोट कर बच्ची को मारा ।  वह सबूत छुपाने के उद्देश्य से नहर में फेंक दिया उसके उपरांत बच्ची के गायब हो जाने की रिपोर्ट दर्ज कराई गई । सरकारी पक्ष की तरफ से 3 गवाहों को भी क्रॉस एग्जामिन किया जा चुका है
सभी पक्षों की दलीलों को सुनने के उपरांत माननीय उच्च न्यायालय द्वारा जमानत याचिका को जघन्य अपराध मानते हुए जमानत याचिका को खारिज कर दिया गया ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.