Critics With Fun!

जिलाधिकारी की पहल पर आत्मबोधानंद का अनशन समाप्त

गंगा रक्षा को प्रशासन ने अब तक किये अवैध खनन में लिप्त 118 वाहन, और 6 स्टोन क्रेशर सील 

हरिद्वार।
गंगा रक्षा सम्बधी कई मांगों को लेकर 18अगस्त से मातृसदन में अनशन पर  बैठे ब्रह्मचारी आत्मबोधानन्द को जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय ने जूस पिलाकर उनका अनशन समाप्त कराया। हरिद्वार के जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय ने आज जगजीतपुर स्थित मातृ सदन आश्रम पहुंचकर स्वामी शिवानन्द एवं ब्रह्मचारी आत्मबोधानंद से मुलाकात की। इस मौके पर जिलाधिकारी की स्वामी शिवानन्द एवं ब्रह्मचारी आत्मबोधानंद से विभिन्न विषयों पर विस्तृत चर्चा हुई। जिलाधिकारी व आश्रम के संस्थापक स्वामी शिवानन्द ने ब्रह्मचारी आत्मबोधानन्द को जूस पिलाकर उनका अनशन समाप्त कराया।
   इस अवसर पर पत्रकारों से वार्ता करते हुये जिलाधिकारी ने कहा कि आत्माबोधानन्द जी एक सुयोग्य व्यक्ति हैं, मेरे लिए यह महत्वपूर्णं था कि उनके स्वास्थ्य पर कोई भी गम्भीर प्रतिकूल प्रभाव न पड़े। उन्होंने बताया कि वह पहली बार कल मातृसदन आश्रम आये थे, जहां काफी सौहार्दपूर्ण वातावरण में बातचीत हुई थी, उनके अनुरोध को स्वीकार करते हुए आत्मबोधानंद ने शहद का सेवन शुरू किया था। जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय ने बताया कि भारत सरकार से समय-समय पर जो पत्र आये थे तथा माइनिंग कमेटी के जो दिशा-निर्देश थे, उन्हें अपर मुख्य सचिव, वन एवं पर्यावरण, उत्तराखण्ड शासन को इस अनुरोध के साथ प्रेषित कर दिया गया है कि जो मार्गदर्शन पत्र द्वारा दिया गया है उसके अनुरूप कार्यवाही होनी चाहिए।
अवैध खनन पर कार्रवाई का उल्लेख करते हुये जिलाधिकारी ने बताया कि पिछले दो महीने के अन्दर हमने जो कार्यवाही अवैध खनन के विरूद्ध की हैं, स्वामी शिवानन्द जी उससे काफी संतुष्ट हैं। उन्होंने बताया कि अभी तक अवैध खनन में लिप्त 118 वाहन, 6 स्टोन क्रेशर सील किये गये हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि साध्वी पदमावती एवं स्वामी ज्ञानस्वरूप सानन्द उर्फ प्रोफेसर जीडी अग्रवाल के सम्बन्ध में स्वामी शिवानन्द एवं स्वामी आत्मबोधानन्द द्वारा एसआईटी गठन की मांग की गयी है, इस संबंध में निर्णय लेने के लिए शासन को पत्र प्रेषित कर दिया गया है। जिलाधिकारी ने कहा कि हमारा सौभाग्य है कि ब्रहमचारी आत्मबोधानन्द जी ने अपना अनशन समाप्त कर दिया है।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वीर सिंह बुदियाल, स्वामी दयानन्द एवं डाॅ0 विजय वर्मा आदि उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.