Critics With Fun!

सावधान इन इन तरीकों से ऑनलाइन फ्रोउड़िये आपको लगा रहे हैं चुना

वर्चुअल पुलिस स्टेशन जनपद चमोली, ने साइबर अपराधों को रोकने के लिए चला रखा है   जनजागरण का अभियान जाने कैसे कैसे करते हैं अपराधी अपराध ।

साइबर अपराधी रोजाना नए-नए तरीके अपनाकर लोगों को ठगी का शिकार बना रहे हैं। कभी रिश्तेदार-मित्र तो कभी बैंक अधिकारी बनकर खाते से रकम निकाल रहे हैं। इसके अलावा बीमा पालिसी का लाभ, रिवार्ड प्वाइंट दिलाने का झांसा दे रहे हैं। रिश्तेदार-मित्र और सैन्य अधिकारी बनकर भी ठग रहे हैं। ऐसे में सावधानी जरूरी है।

जाने कैसे साइबर अपराधी लोगों को ठगी का शिकार बना सकते हैं:-

बैंक अधिकारी-कर्मचारी बनकर
साइबर अपराधी लोगों को कॉल करके कहते हैं कि बैंक अधिकारी और कर्मचारी बोल रहे हैं। आपके खाते को अपडेट किया जा रहा है, एटीएम कार्ड ब्लॉक हो गया ह, क्रेडिट कार्ड जारी किया जा रहा है। इसके बाद खाते की जानकारी लेकर ठगी कर लेते हैं।

बीमा पालिसी लाभ देने के नाम पर
बंद हो चुकी बीमा पालिसी को फिर से चालू करने और उसका लाभ दिलाने का झांसा देकर बैंक सम्बन्धित जानकारी मांग कर ठगी करते हैं।

रिवार्ड प्वाइंट
ऑनलाइन खरीदारी पर रिवार्ड प्वाइंट दिलाने का झांसा देकर। इसके बाद खाते की जानकारी लेकर ठगी।

रिश्तेदार-मित्र बनकर
रिश्तेदार और मित्र बनकर कॉल करते हैं। खाते में रकम भेजने का झांसा देते हैं। QR कोड स्कैन करने हेतु कहा जाता है और साइबर ठगी की जाती है।

सैन्य अधिकारी बनकर
सैन्य अधिकारी बन कर ऑनलाइन शापिंग साइट पर फर्नीचर, बाइक आदि को सस्ते दामों पर बेचने का झांसा देते हैं। सामान की डिलीवरी से पहले खाते में रकम जमा करा लेते हैं। इसके बाद मोबाइल बंद कर लेते हैं।

ऑनलाइन बिक्री
साइबर अपराधी ऑनलाइन शापिंग साइट पर विज्ञापन देने वाले को कॉल करते हैं। सामान खरीदने का झांसा देकर एक लिंक भेजते हैं जो यह खाते में रकम आने के बजाय रकम निकलने का होता है।

कोषागार अधिकारी बनकर
आजकल साइबर अपराधी पेंशनर्स को कॉल करते हैं। उन्हें पेंशन दिलाने का झांसा देते हैं। इसके बाद खाते की जानकारी लेकर रकम निकाल लेते हैं।

सोशल मीडिया पर दोस्ती कर
आजकर सबसे आम साइबर अपराध है सेक्सटॉर्शन, जिसमें साइबर ठग लडकी की ID से सोशल मीडिया पर आपको Friend Request भेजते हैं अपनी बातों में लाकर मैसेन्जर पर या WhatsApp नम्बर मांगकर आपको न्यूड विडियो कॉल करने को कहते हैं एवं इसकी रिकार्डिगं कर आपको ब्लेकमेल करते हैं और पैसों की मांग करते हैं।

सावधानी ही बचाव
साइबर अपराधों से बचने हेतु आपका जागरूक होना बहुत आवश्यक है अत: जागरूक बनें बैंक खाते, ATM की जानकारी, OTP, PIN इत्यादी कभी भी साझा ना करें, अनजान QR कोड कभी स्कैन ना करें, अनजान व्यक्तियों को सोशल मीडिया पर Friend list में ना रखें, किसी तरह का लाभ दिलाने की बात करने वालों की बातों में नहीं आएं, पेंशन अधिकारी बनकर कॉल करने वालों से सावधान रहें, किसी सामान की ऑनलाइन खरीदारी प्रमुख कंपनी की वेबसाइट से ही करें एवं पहले से पेमेंट करने से बचें।

वर्चुअल पुलिस स्टेशन जनपद चमोली
Follows us:-
WhatsApp 9458322120,
Facebook:- chamoli police,
Twitter @chamolipolice @SP_chamoli,
Instagram @chamolipolice

Leave A Reply

Your email address will not be published.